मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

संबंधों पर सही संदेश

जून 01, 2015

विदेश नीति के मोर्चे पर मोदी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जिस तरह करीब-करीब सभी मुद्दों पर अपनी बात प्रभावशाली ढंग से रखी उससे स्वत: स्पष्ट हो जाता है कि इस एक मोर्चे पर यह सरकार उम्मीद से अधिक सफल रही है। इसका जितना श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है उतना ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी, जिन्होंने अपने काम पर कहीं अधिक गंभीरता से ध्यान दिया। शायद यही कारण है कि वह मोदी सरकार की सबसे कार्यकुशल और दक्ष मंत्री के रूप में जानी जा रही हैं। विदेश नीति से संबंधित मुद्दों पर सवाल-जवाब के दौरान पाकिस्तान से संबंधों का सवाल सामने आना ही था। यह अच्छा हुआ कि सुषमा स्वराज ने यह स्पष्ट कर दिया कि संबंध सुधारने की जिम्मेदारी पाकिस्तान पर ही है, क्योंकि वही है जिसकी गतिविधियों से वैसा माहौल तैयार नहीं हो पा रहा है जिसमें दोनों देश द्विपक्षीय मसलों पर गंभीरता से चर्चा कर सकें। दुर्भाग्य से इसकी उम्मीद भी कम ही है कि पाकिस्तान संबंधों को सुधारने और भरोसे का माहौल बनाने के लिए कोई ठोस कदम उठाएगा। एक के बाद एक गतिविधियां यही संकेत कर रही हैं कि पाकिस्तान अपनी भारत विरोधी गतिविधियों का परित्याग करने के लिए तैयार नहीं। यह तब है जब मोदी सरकार ने पहले दिन ही यह स्पष्ट कर दिया था कि भारत अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ शांतिपूर्ण संबंधों का पक्षधर है और इसके लिए एक कदम आगे बढ़कर पहल करने के लिए भी तत्पर है। भारत की इस तत्परता के जवाब में पाकिस्तान ने कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया और यही कारण है कि दोनों देशों के संबंधों में कहीं कोई सुधार आता नहीं दिख रहा है.....[आगे पढ़ें]

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code