मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

अंतर्देशीय जलमार्ग के माध्यम से नए संपर्क मार्ग पर भारत-नेपाल वक्तव्य

अप्रैल 07, 2018

  • भारत और नेपाल के प्रधानमंत्रियों ने स्वीकार किया कि अंतर्देशीय जलमार्ग की अप्रयुक्त क्षमता इस क्षेत्र के समग्र आर्थिक विकास की दिशा में योगदान कर सकती है। दोनों देशों की भौगोलिक स्थिति औरदोनों देशों में अंतर्देशीय जलमार्गों के विकास को ध्यान में रखते हुए, दोनों प्रधानमंत्रियों ने नेपाल को समुद्र तक एक अतिरिक्त पहुंच प्रदान करने के लिए व्यापार और पारगमन व्यवस्था के भीतर सामग्रियों के परिवहन के लिए अंतर्देशीय जलमार्गों का विकास करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया। यह नई पहल कार्गो की लागत प्रभावी और कुशल आवाजाही को सक्षम करेगी। नेपाल के प्रधानमंत्री ने कहा कि इस अतिरिक्त संपर्क मार्ग से नेपाल के व्यापार और अर्थव्यवस्था के विकास पर अच्छा प्रभाव पड़ेगा।
  • दोनों नेताओं ने अपने संबंधित अधिकारियों कोभारत और नेपाल के बीच यातायात में पारगमन को सुविधाजनक बनाने के लिए, एक अतिरिक्त माध्यम के रूप में अंतर्देशीय जलमार्ग को शामिल करने के लिए पारगमन संधि की औपचारिकताओं में अपेक्षित प्रक्रियाओं और रूपरेखाओं को तैयार करने के निर्देश दिये।
नई दिल्ली
07 अप्रैल, 2018
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code