लोक राजनय लोक राजनय

अब 14 भाषाओं में भारत परिप्रेक्ष्य: मोबाइल पर

  • अब 14 भाषाओं में भारत परिप्रेक्ष्य: मोबाइल पर

    विदेश मंत्रालय की प्रमुख पत्रिका, भारत परिप्रेक्ष्य अब 14 भाषाओं में सभी मोबाइल प्लेटफॉर्म पर डिजिटल प्रारूप में उपलब्ध है। अपनी पसंद की भाषा में भारत परिप्रेक्ष्य को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

केन्द्र बिन्दु में
यह भी देखें