मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

भारत-उज्बेकिस्तान विदेश कार्यालय परामर्श

मई 11, 2022

भारत-उज्बेकिस्तान विदेश कार्यालय परामर्श (एफओसी) का 15 वां दौर 11 मई 2022 को नई दिल्ली में आयोजित किया गया था। इन परामर्शों की सह-अध्यक्षता सचिव (पश्चिम) श्री संजय वर्मा और उज्बेकिस्तान गणराज्य के विदेश मामलों के उपमंत्री महामहिम श्री फुरकात सिदिकोव ने की। एफओसी का अंतिम दौर नवंबर 2020 में वर्चुअल प्रारूप में आयोजित किया गया था।

विचार-विमर्श के दौरान, दोनों पक्षों ने राजनीतिक, सुरक्षा, व्यापार-आर्थिक, कनेक्टिविटी, विकास साझेदारी, मानवीय और सांस्कृतिक क्षेत्रों सहित द्विपक्षीय सहयोग के हालात और संभावनाओं की व्यापक समीक्षा की। वार्ता विशेष रूप से अधिक आर्थिक सहयोग और भारत और उज्बेकिस्तान के बीच कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए उठाए गए कदमों पर केंद्रित थी। दोनों पक्षों ने दोनों देशों के बीच व्यापार के लिए चाबहार बंदरगाह की पूरी क्षमता का दोहन करने पर सहमति व्यक्त की।

दोनों पक्षों ने अफगानिस्तान सहित आपसी हित के क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। वे संयुक्त राष्ट्र, एससीओ और अन्य बहुपक्षीय मंचों में सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए। भारतीय पक्ष ने एससीओ की उज्बेकिस्तान की चल रही अध्यक्षता के लिए अपना पूरा समर्थन व्यक्त किया। दोनों पक्षों ने जनवरी 2022 में पहले भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन के आयोजन का अत्यधिक मूल्यांकन किया और अन्य मध्य एशियाई देशों के साथ इसके परिणामों को तेजी से लागू करने पर सहमति व्यक्त की।

वार्ता दोस्ती और समझ की पारंपरिक भावना के माहौल में संपन्न हुई। एफओसी दिसंबर 2020 में वर्चुअल शिखर सम्मेलन सहित पिछले 2 वर्षों में हुई उच्च स्तरीय बैठकों के दौरान लिए गए निर्णयों के कार्यान्वयन की समीक्षा करने में उपयोगी थी। दोनों पक्ष उज्बेकिस्तान में पारस्परिक रूप से सुविधाजनक तिथि पर परामर्श के अगले दौर को आयोजित करने पर सहमत हुए।

नई दिल्ली
मई 11, 2022

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code