मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

प्रश्न संख्या 3694 भारत-ईरान, संयुक्‍त वाणिज्‍य दूत समिति की बैठक

जुलाई 25, 2019

राज्‍य सभा
अतारांकित प्रश्न संख्या 3694
दिनांक 25.07.2019 को उत्‍तर देने के लिए

भारत-ईरान, संयुक्‍त वाणिज्‍य दूत समिति की बैठक

3694. श्रीमती शांता क्षत्री:

क्‍या विदेश मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि :

(क) क्‍या मंत्री ने हाल ही में हुई भारत-ईरान संयुक्‍त वाणिज्‍य दूत समिति की बैठक में ईरान इस्‍लामिक गणराज्‍य के साथ सिविल और वाणिज्‍यिक मामलों पर परस्‍पर कानूनी सहायता के लिए प्रतिज्ञा की है जिसके फलस्‍वरूप परस्‍पर दोनों देशों के राष्‍ट्रिकों के लिए दीर्घकालीन ई-वीजा प्रदान किया जाएगा तथा लोगों में बेहतर आपसी संपर्क के लिए वीजा प्रसुविधा होगी; और

(ख) यदि हां, तो तत्‍संबंधी ब्‍यौरा क्‍या है?

उत्तर
विदेश राज्य मंत्री
(श्री वी. मुरलीधरन)

(क) और (ख) सिविल और वाणिज्‍यिक मामलों पर परस्‍पर कानूनी सहायता के संबंध में एक करार के बारे में ईरान इस्‍लामिक गणराज्‍य के साथ बातचीत जारी है। इस करार को शीघ्रता से संपन्‍न करने के लिए 14 मई, 2019 को नई दिल्‍ली में आयोजित भारत-ईरान संयुक्‍त कौंसुली समिति बैठक के दौरान प्रस्‍तावित करार पर चर्चा की गई थी।

भारत-ईरान संयुक्‍त कौंसुली समिति बैठक के दौरान दोनों पक्ष लोगों के आपसी संपर्क को सुकर बनाने और मैत्रीपूर्ण आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के उद्देश्‍य से वीजा जारी करने की प्रक्रिया को और सरल एवं कारगर बनाने के लिए उपाय करने पर सहमत हो गए। ईरान उन 167 देशों में से एक है जहां भारत ने ई-वीजा सुविधा का विस्‍तार किया है। संयुक्‍त कौंसुली समिति बैठक के फलस्‍वरूप ईरान ने अब भारतीय नागरिकों के लिए आगमन पर वीजा सुविधा को 30 से बढ़ाकर 90 दिन कर दिया है। इसके अतिरिक्‍त, भारतीय नागरिक भारत स्‍थित ईरान इस्‍लामिक गणराज्‍य के मिशनों और कौंसुलावासों से एक वर्ष का बहु-प्रवेश वीजा प्राप्‍त कर सकते हैं।

*****

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code


यह भी देखें