मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

प्रश्न संख्या 3695 बौद्ध धर्मावलंबी देशों के साथ संबंध

जुलाई 25, 2019

राज्‍य सभा
अतारांकित प्रश्न संख्या 3695
दिनांक 25.07.2019 को उत्‍तर देने के लिए

बौद्ध धर्मावलंबी देशों के साथ संबंध

3695. श्री राकेश सिन्हा:

क्‍या विदेश मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि:

(क) सरकार किस प्रकार से बौद्ध धर्मावलंबी देशों के साथ संबंधों को मजबूत करने का विचार रखती है;

(ख) क्या सरकार ने इन देशों में सांस्कृतिक केंद्रों की शुरूआत की है;

(ग) क्या सरकार उन देशों के साथ भारत के संबंधों को विकसित करने के लिए बौद्ध भिक्षुओं की सेवाओं का अनुरोध कर रही है; और

(घ) सरकार ने इन देशों के छात्रों को आकर्षित करने के लिए कौन-कौन से कदम उठाए हैं?

उत्तर
विदेश राज्य मंत्री
(श्री वी. मुरलीधरन)

(क) नेपाल, भूटान, म्यांमार, श्रीलंका, थाइलैंड, लाओ पीडीआर, कंबोडिया, वियतनाम, चीन, मंगोलिया, जापान और कोरिया गणराज्य सहित विश्व के कई हिस्सों में बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग हैं। भारत के इन देशों के साथ दीर्घकालिक ऐतिहासिक संबंध हैं।

सरकार उच्चस्तरीय यात्राओं, विकास साझेदारियों, सांस्कृतिक सहयोग और लोगों के आपसी संपर्कों के माध्यम से इन देशों के साथ सक्रिय भागीदारी बनाए रखेगी। पिछले वर्षों के दौरान इन देशों से भारत में स्थित बौद्ध धर्म के पवित्र स्थानों की यात्रा करने वाले नागरिकों/पर्यटकों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। इनमें से कई देशों में महत्वपूर्ण पुरातात्त्विक, धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत स्मारकों/स्थलों के संरक्षण और परिरक्षण में भारत के भागीदारी है।

(ख) उपर्युक्त अधिकांश देशों में भारतीय सांस्कृतिक केंद्र स्थापित किए गए हैं। इनमें से कई देशों के अनेक विश्वविद्यालयों में भारतीय अध्ययन पीठ भी स्थापित की गई हैं।

(ग) बौद्ध धर्म से संबंधित विषयों पर भारत में आयोजित सम्मेलनों और सेमिनारों में इन देशों से बहुत बड़ी संख्या में विद्वान, बौद्ध भिक्षु और भारतविद् भाग लेते हैं। अभी तक भारत में आयोजित छह अंतरराष्ट्रीय बौद्ध धर्म सम्मेलनों में इन देशों से भारी संख्या में लोगों ने भाग लिया है।

(घ) भारत सरकार बौद्ध धर्म के इतिहास और साहित्य में पाठ्यक्रम संचालित करती है और भारत में विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में अध्ययन के लिए इन देशों के छात्रों को छात्रवृत्तियां प्रदान करती है।

*****

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code


यह भी देखें