यात्रायें यात्रायें

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और सेशेल्स गणराज्य के राष्ट्रपति महामहिम वैवेल रामकलावन द्वारा भारत-सेशेल्स उच्चस्तरीय वर्चुअल कार्यक्रम में संयुक्त रूप से विकास सहायता परियोजनाओं की श्रृंखला का उद्घाटन (अप्रैल 8, 2021)

अप्रैल 08, 2021

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने आज सेशेल्स के राष्ट्रपति महामहिम वैवेल रामकलावन के साथ एक वर्चुअल कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन सेशेल्स में भारत द्वारा वित्त पोषित कई विकास सहायता परियोजनाओं के संयुक्त ई-उद्घाटन और सेशल्स कोस्टगार्ड को भारत द्वारा निर्मित तीव्र गश्ती नौका (फास्ट पैट्रोल वेसल) को सौंपने हेतु किया गया था।

वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति रामकलावन ने सेशेल्स स्थित मजिस्ट्रेट न्यायालय के नए भवन का उद्घाटन किया। यह भवन सेशेल्स में नागरिक आधारभूत संरचना से जुड़ी भारत की पहली बड़ी परियोजना है और इसका निर्माण भारत सरकार द्वारा 3.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर की अनुदान सहायता से किया गया है। सेशेल्स की राजधानी विक्टोरिया में स्थित यह एक अत्याधुनिक भवन है, जो सेशेल्स की न्यायिक प्रणालीकी क्षमता को व्यापक रूप से बढ़ाएगा और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होगा।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान सेशेल्स के राष्ट्रपति को 48.9-एम तीव्र गश्ती नौका (फास्ट पैट्रोल वेसल) भी सौंपा। इस एफपीवी को 100 करोड़ रु. की लागत से कोलकाता स्थित मैसर्स जीआरएसई द्वारा निर्मित किया गया है और इसे सेशेल्स को उसकी समुद्री निगरानी क्षमताओं को मजबूत करने के उद्देश्य से भारतीय अनुदान सहायता के तहत उपहार में दिया गया है। ये आधुनिक एवं पूरी तरह से सुसज्जित नौसैनिक पोत, सेशेल्स कोस्टगार्ड की गश्ती क्षमता को बढ़ाने और अपनी विशाल समुद्री संपदा की रक्षा करने तथा समुद्री समुद्री डकैती, ड्रग एवं हथियारों की तस्करी और सेशेल्स के अधिकार में आने वाले जल क्षेत्र में अवैध मछली पकड़ने जैसे खतरों से निपटने में मदद करेंगे। पोत की आपूर्ति समुद्री सुरक्षा के क्षेत्र में भारत और सेशेल्स के बीच दीर्घकालिक एवं गहरे सहयोग और सेशल्स के विश्वसनीय और प्रमुख सुरक्षा भागीदार के रूप में भारत की भूमिका को दर्शाता है।

इस कार्यक्रम के आयोजन के दौरान, प्रधानमंत्री और सेशेल्स के राष्ट्रपति ने संयुक्त रूप से सेशेल्स के रोमेनविले द्वीप में भारतीय अनुदान सहायता से निर्मित 1 मेगावाट की क्षमता वाले जमीन पर लगे सौर ऊर्जा संयंत्र (ग्राउंड-माउंटेड सोलर पावर प्लांट) का भी उद्घाटन किया। इसके साथ ही दोनों नेताओं ने 10 उच्च प्रभाव वाली सामुदायिक विकास परियोजनाओं (एचआईसीडीपी) का उद्घाटन भी किया।

इस अवसर पर बात करते हुए, प्रधानमंत्री मोदी ने सेशल्स के साथ सहयोग को और मजबूत करने में मानव-केन्द्रित अवसंरचना परियोजनाओं में विकास साझेदारी के महत्व पर बल दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि मजिस्ट्रेट न्यायालय एक अत्याधुनिक भवन है, जो सेशेल्स की न्यायिक प्रणालीकी क्षमता को व्यापक रूप से बढ़ाएगा और सेशेल्स के लोगों को न्यायिक सेवाओं के बेहतर वितरण में सहायता प्रदान करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि सेशेल्स को उपहार स्वरुप दिया गया तीव्र गश्ती नौका (फास्ट पैट्रोल वेसल), समुद्री क्षेत्र की सुरक्षा और सर्वेक्षण में सेशेल्स की अपनी क्षमताओं को मजबूत करने की भारत की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

राष्ट्रपति वैवेल रामकलावन ने सेशेल्स की सुरक्षा और विकास से जुड़ी जरूरतों को पूरा करने में भारत की ओर से मिलने वाले लगातार समर्थन के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की, जो दोनों देशों के बीच मजबूत और घनिष्ठ संबंधों को दर्शाता है।

मजिस्ट्रेट न्यायालय का नया भवन, 1 मेगावाट की क्षमता वाला सौर ऊर्जा संयंत्र, एचआईसीडीपी का ई-उद्घाटन और सेशेल्स कोस्टगार्ड को तीव्र गश्ती नौका (फास्ट पैट्रोल वेसल) सौंपना, सेशेल्स का लंबे समय से भरोसेमंद एवं विश्वसनीय भागीदार के रूप में भारत की भूमिका और गहन द्विपक्षीय संबंधों के प्रति प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

इस कार्यक्रम में जिन सहयोग परियोजनाओं का ई-उद्घाटन किया गया वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'सागर' – सिक्यूरिटी एंड ग्रोथ फॉर आल इन द रीजन – के दृष्टिकोण के अनुरूप हैं।

नई दिल्ली
अप्रैल 08, 2021



Page Feedback

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code