मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

कजाकिस्तान के राष्ट्रपति के साथ सीआईसीए के विदेश मंत्रियों की संयुक्त बैठक में विदेश मंत्री की टिप्पणी (12 अक्टूबर, 2021)

अक्तूबर 12, 2021

महामहिम, राष्ट्रपति

आप सभी को सुप्रभात और हमसे मिलने के लिए अध्यक्ष महोदय को धन्यवाद। मैं आज सीआईसीए विदेश मंत्रियों की बैठक की उत्कृष्ट व्यवस्था और उदार आतिथ्य के लिए कजाकिस्तान के प्रति अपना आभार व्यक्त करता हूं।

हमें हर्ष है कि सीआईसीए को एशिया में शांति और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए एक मंच के रूप में स्थापित करने के कजाकिस्तान के प्रथम राष्ट्रपति एल्बासी नूरसुल्तान नज़रबायेव के विचार ने एक लंबी यात्रा तय की है। हम उनसे निरंतर मार्गदर्शन प्राप्त करते रहने की आशा करते हैं।

इस अनोखे मंच और इसके उद्देश्यों को आगे बढ़ाने में कजाकिस्तान की अध्यक्षता और योगदान एक मजबूत शक्ति बने हुए हैं। यह सभा सहयोगी ढंग से देशों की एक विस्तृत श्रृंखला को साझा समस्याओं और हितों के समाधान खोजने की अनुमति देती है। इसकी जरूरत आज से अधिक पहले कभी नहीं रही है।

एशिया में विकास विश्व के विकास के साथ निकटता से जुड़ा हुआ है। चाहे वह आतंकवाद और उग्रवाद का संकट हो, स्वास्थ्य, महामारी के आर्थिक और सामाजिक प्रभाव, वैश्विक आम हितों की सुरक्षा अथवा सतत विकास के लक्ष्य हों, हमें अपने अस्तित्व की अविभाज्यता की सराहना करनी चाहिए। इस तरह की जागरूकता हमें विभिन्न क्षेत्रों में मिलकर काम करने के लिए प्रेरित करती है।

अफ़ग़ानिस्तान में हाल के घटनाक्रमों से इस क्षेत्र और उसके बाहर स्पष्ट चिंता उत्पन्न हो गई है। यह सुनिश्चित करना कि अफगान क्षेत्र का उपयोग आतंकवाद का समर्थन करने के लिए नहीं किया जाए और एक समावेशी सरकार के गठन को बढ़ावा देना व्यापक रूप से मान्यता प्राप्त प्राथमिकताएं है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय की प्रतिक्रिया को आकार देने में सीआईसीए की आवाज एक सकारात्मक कारक बन सकती है।

आतंकवाद, हथियारों की तस्करी, नशीले पदार्थों के व्यापार और अन्य प्रकार के अंतरराष्ट्रीय अपराधों से निपटने के लिए हमारे सामूहिक संकल्प को मजबूत करना पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण बन गया है। इस संबंध में सीआईसीए द्वारा प्रोत्साहित सहयोग की आदतें सहायक हो सकती हैं।

सीआईसीए के समेकन में परिलक्षित विश्व व्यवस्था में होने वाले बदलाव भी बेहतर बहुपक्षीयता के लिए एक शक्तिशाली आधार बनाते हैं। हमारे विविध विश्व को लोकतांत्रिक निर्णय लेने का अभ्यास करने के और अधिक उपाय खोजने होंगे।

on. जैसा कि सीआईसीए अपने 30वें वर्ष के निकट पहुंच रहा है, अध्यक्ष महोदय मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हम सदस्य देश एशिया में शांति, सुरक्षा और स्थिरता बढ़ाने के लक्ष्य के प्रति पूर्णत: प्रतिबद्ध हैं। आज की बैठक उसी दिशा में एक कदम और आगे रखेगी।

नई दिल्ली
अक्टूबर 12, 2021

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code