यात्रायें यात्रायें

फिलीपींस की अपनी यात्रा के दौरान राजकीय भोज में राष्ट्रपति की टिप्पणी

अक्तूबर 19, 2019

महामहिम राष्ट्रपति रोड्रिगो रो ड्यूटरटे और प्रथम महिला मैडम अवनसेना,
विशिष्ट अतिथिगण,
देवियो और सज्जनों,
माबुहाई, नमस्कार और गुड इवनिंग!


1. श्रीमान राष्ट्रपति महोदय, सर्वप्रथम, मैं आपको बताना चाहूँगा कि मैं आपके द्वारा मेरे और मेरे प्रतिनिधिमंडल को दिए गए स्वागत की गर्मजोशी से अभिभूत हूँ । मैं आपके उदार शब्दों और व्यक्त की गई संवेदनाओं के लिए धन्यवाद करता हूं – यही भावनाएं पूर्ण रूप से मेरी तरफ से भी हैं । यह वर्ष हमारी द्विपक्षीय यात्रा में एक मील का पत्थर है। मैंने अपने राजनयिक संबंधों की 70 वीं वर्षगांठ मनाने और फिलीपींस-भारत द्विपक्षीय साझेदारी के लिए फिर से खुद को प्रतिबद्ध करने के लिए फिलीपींस की यह राजकीय यात्रा की है।

2. हमारे संबंध गर्मजोशी-भरे और मैत्रीपूर्ण हैं, क्योंकि वे हमारे साझा मूल्यों और दृष्टिकोण पर आधारित हैं। हम दोनों लोकतंत्र हैं जो राष्ट्रों की संप्रभु समानता में विश्वास करते हैं और अंतरराष्ट्रीय कानून के प्रति सम्मान रखते हैं और उनका पालन करते हैं।

3. हम दूरंदेशी साथी हैं जो अपने देश के लोगों और समग्र दुनिया की शांति और समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमने अभी कई प्रमुख समझौते किए हैं। आपसी समझ की ये व्यापकता और विस्तार हमारे बढ़ते सहयोग की दास्तान हैं।

4. और, भविष्य की ओर आगे बढ़ते हुए भी, हम अपने पुराने सभ्यतागत संपर्कों का पता लगाने के इच्छुक हैं। मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि हमारी साझा विरासत की एक समृद्ध टेपेस्ट्री मौजूद है जिस पर शोध किया जाना और उसे प्रलेखित किया जाना बाकी है । अगुसान में तारा की मूर्ति की खोज और हमारी भाषाओं और विचारों में समानता, प्राचीन काल में हमारे जीवंत सांस्कृतिक आदान-प्रदान के प्रतीक हैं । और हमें आनंद देने वाली बात यह है कि, हमारे समकालीन सांस्कृतिक गुण, चाहे वह संगीत हो या नृत्य, कराओके या कथक, हमारे दोनों देशों के लोगों को करीब लाते हैं।

5. महामहिम, वैश्विक आर्थिक मंदी के बावजूद, भारत और फिलीपींस दोनों ही सराहनीय वृद्धि दर्ज कर रहे हैं। हमारे द्विपक्षीय व्यापार और निवेश, विज्ञान और प्रौद्योगिकी में हमारा सहयोग, मानव संसाधन विकास में हमारा सहयोग और निश्चित रूप से, हमारे सांस्कृतिक आदान-प्रदान, हमारे संबंधों में नई ऊर्जा और गति को बढ़ाते रहेंगे।

6. महामहिम, आपके राष्ट्रपति पद के पिछले तीन वर्षों में - 2017 में हमारे प्रधानमंत्री की मनीला यात्रा और 2018 में भारत की आपकी यात्रा के बाद यह हमारे दोनों देशों के बीच तीसरा उच्च स्तरीय आदान-प्रदान है । हम भारत के साथ संबंधों के प्रति आपकी प्रतिबद्धता और महत्त्व की ह्रदय से सराहना करते हैं। हमारे लिए भी, भारत-प्रशांत क्षेत्र में एक भागीदार के रूप में फिलीपींस का महत्व बढ़ रहा है और हम इस रिश्ते को एक नए स्तर पर ले जाने के लिए उत्सुक हैं।

7. इस आशावादी नोट पर, महामहिम, देवियों और सज्जनों, कृपया मेरे साथ एक उद्घोष में शामिल हों:

- राष्ट्रपति ड्यूटरटे और मैडम फर्स्ट लेडी के अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और सफलता के लिए;

- फिलीपींस के मैत्रीपूर्ण लोगों की शांति, समृद्धि और प्रगति के लिए; तथा

- हमारे दोनों देशों के बीच दोस्ती के लगातार बढ़ रहे बंधन के लिए।

मारामिंग सलामत! धन्यवाद!

मनीला
अक्टूबर 19, 2019



टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code