यात्रायें यात्रायें

ब्रासीलिया में 11 वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के पूर्ण सत्र में प्रधानमंत्री की टिप्पणी

नवम्बर 14, 2019

President Bolsonaro,
President Putin,
President Xi and
President Ramaphosa


मुझे मित्र देश ब्राज़ील की इस सुंदर राजधानी में 11वें BRICS समिट के लिए आकार बहुत प्रसन्नता है। भव्य स्वागत और समिट की बेहतरीन व्यवस्था के लिए मेरे मित्र राष्ट्रपति बोल्सोनारो को मैं हार्दिक धन्यवाद देता हूं।

Excellencies,

इस समिट की थीम - "Economic growth for an इनोवेटिव future”, बहुत सटीक है। Innovation हमारे विकास का आधार बन चुका है। इसलिए, आवश्यक है कि हम innovation के लिए BRICS के अंतर्गत सहयोग मज़बूत करें। ब्राजील ने स्वयं innovation और व्यावहारिक सहयोग के लिए कई सफल कदम उठाए हैं। आने वाले वर्षों में भी ब्राज़ील के initiatives पर हमें कार्यरत रहना चाहिए।

Excellencies,

10 वर्ष पहले, वित्तीय संकट और कई आर्थिक समस्याओं के समय, BRICS की शुरुआत हुई थी। 2009 में येका-तरिन-बर्ग से शुरू हुई यात्रा कई उल्लेखनीय पड़ाव पार कर चुकी है। इन वर्षों में BRICS देश वैश्विक आर्थिक वृद्धि के प्रमुख engine रहे हैं। और पूरी मानवता के विकास में हमारा योगदान रहा है। साथ ही, शांतिपूर्ण, समृद्ध और multi polar विश्व के प्रमुख कारक के रूप में हम उभरे हैं।

Excellencies,

अब हमें अगले दस सालों में BRICS की दिशा, तथा आपसी सहयोग को और प्रभावी बनाने पर विचार करना होगा।  कई क्षेत्रों में सफलता के बावजूद कुछ क्षेत्रों में प्रयास बढ़ाने की काफी गुंजाइश है। Global economy की चुनौतियों का सामना करने के लिए हमें BRICS mechanisms और processes को अधिक efficient तथा outcome-driven बनाना चाहिए। हमें आपसी व्यापार और निवेश पर विशेष ध्यान देने की ज़रूरत है। Intra-BRICS व्यापार, विश्व-व्यापार का सिर्फ 15% है, जबकि हमारी सम्मिलित आबादी दुनिया की आबादी की 40% से ज्यादा है। पांचों देशों में service sector GDP का बड़ा हिस्सा है। इसलिए, services में व्यापार को बढ़ाने की अच्छी संभावनाएं हैं। इंट्रा BRICS trade की लागत को भी कम करना जरुरी है। हमारे ट्रेड मंत्री इसे 5% कम करने के लक्ष्य पर विचार कर सकते हैं। ट्रेड फैसिलिटेशन और सरल कस्टम्स एवं banking प्रोसेसेस में सहयोग के जरिये व्यापार में और गति आएगी। ट्रेड प्रमोशन एजेंसीज के बीच समझौता हमारे बीच 500 बिलियन डॉलर के ट्रेड टारगेट को जल्द हासिल करने में मदद करेगा।

Excellencies,

मुझे प्रसन्नता है कि ब्राजील के नेतृत्व में हमने science and technology, innovation और digital economy पर बल दिया है। आई-BRICS network, नया Science Technology Innovation आर्किटेक्चर, human milk bank और BRICS Institute of Future Networks के निर्माण जैसे कई initiatives लिए गए हैं। ये प्रयास BRICS में Innovations eco-system और technology में उद्यमिता को बढ़ावा देंगे। ब्रिक्स start-up challenge और hackathon भी इस उदेश्य में सहायक होंगे। इन प्रयासों में Medical devices, ऊर्जा के नए विकल्पों और दिव्यांग तथा बुजुर्गों के लिए innovations को प्राथमिकता दी जा सकती है। इन पहलों से हमें समाज के लिए उपयोगी research को बढ़ावा देने में भी मदद मिलेगी। इस दिशा में, भारत ब्रिक्स डिजिटल हेल्थ समिट का आयोजन करेगा। इससे स्वस्थ जीवन शैली के लिए innovative solutions को प्रोत्साहित किया जा सकेगा। हाल ही में भारत में हमने ‘Fit India Movement’ शुरू किया है। मैं चाहता हूं कि Fitness और स्वास्थ्य के क्षेत्र में हमारे बीच संपर्क और आदान-प्रदान बढ़े। स्वास्थ्य के क्षेत्र में Traditional knowledge हम पाँचों देशों में है। इसे परस्पर मान्यता देकर और इस क्षेत्र में आपसी सहयोग बढाकर हम हज़ारों सालों से संभाली इस विद्या का फायदा पूरी मानवता तक पहुंचा सकते हैं।  इस विषय में BRICS देशों के बीच एक MoU करने का सुझाव भी मैं देना चाहूँगा।

Excellencies,

BRICS Women Business Alliance की स्थापना पर मैं सभी सदस्यों को बधाई देता हूँ। खास तौर पर राष्ट्रपति पूतिन को इस initiative के लिए बहुत धन्यवाद देता हूं। भारत में पिछले पांच सालों में हर क्षेत्र में women’s participation बढ़ा है। पिछले elections में महिला मतदाता पहली बार पुरूषों की संख्या के बराबर रहीं। और अब तक सबसे अधिक संख्या में महिला उम्मीदवार विजयी भी हुईं। हमारे local self-government में elected वीमेन लीडर्स संख्या करीबन 14 लाख से ज्यादा है। Maternity leave हो या वेतन में gap कम करना, महिला उद्यमिता और सशक्तिकरण के लिए पिछले पाँच सालों में हमने अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाये हैं।

Excellencies,

हमारे देश हर climatic zones को कवर करते हैं। बाढ़ग्रस्त इलाके हों या सूखा-पीड़ित क्षेत्र, बर्फीले क्षेत्र हों या रेगिस्तान, earthquake zones, वगैरह हमारे देशों में मौजूद हैं। शहरी क्षेत्रों में sustainable water management और sanitation महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं। मैं भारत में ब्रिक्स Water Ministers की पहली बैठक आयोजित करने का प्रस्ताव करता हूँ।

Excellencies,

मल्टी-लेटरलिस्म, international trade, और rules-based world order गंभीर समस्याओं से जूझ रहे हैं। पिछले साल हमने reformed मल्टी-लेटरलिस्म पर जोर दिया था। मुझे ख़ुशी है कि इस समिट का जॉइंट स्टेटमेंट इसकी आवश्यकता को मान्यता देगा। ⮚ U.N., W.T.O., World Bank और अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों को मजबूत बनाने और उनमें सुधार लाने के लिए हमें सामूहिक रणनीति बनानी चाहिए।

Excellencies,

विश्व-युद्ध जैसे खतरों से मानवता दूर आई है। लेकिन विकास और सुख-शांति के लिए आतंकवाद सबसे बड़े खतरे के रूप में उभरा है। दस सालों में आतंकवाद के हाथों सवा दो लाख जीवन मिटे और समाज को गहरी क्षति हुई। इसके अलावा, विभिन्न अनुमानों के अनुसार एक ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा का नुकसान विश्व की अर्थ-व्यवस्था को हुआ। और विकासशील देशों की economic growth को 1.5 प्रतिशत तक कम किया है। आतंकवाद, terrorism financing, drug trafficking और organized crimes से बना संशय का वातावरण बना कर व्यवसाय और व्यापार को गहरा अप्रत्यक्ष नुकसान पहुँचाते हैं। मुझे ख़ुशी है कि BRICS Strategies for Countering Terrorism पर पहला Seminar आयोजित किया गया। हम आशा करते हैं कि ऐसे प्रयासों और पाँच working groups की गतिविधियाँ आतंकवाद और दूसरे organized crimes के खिलाफ़ सशक्त BRICS Security Cooperation बढ़ाएँगी। इस दिशा में, भारत आंतकवाद की digital फोरेंसिक analysis पर एक workshop का आयोजन करेगा।

Excellencies,

हमारे बीच बढ़ते people-to-people संबंध हमारी partnership को ऊर्जा देंगे। इस संबंध में मैं कुछ सुझाव देना चाहता हूं। BRICS देशों के बीच यूथ समिट का आयोजन करना चाहिए। इसमें start-ups, hackathon, sports, creativity जैसी गतिविधियों में बड़ी संख्या में पांचों देशों के युवा हिस्सा लें। भारत में BRICS देशों के विद्यार्थियों को BRICS से संबन्धित विषयों पर अध्ययन के लिए हर साल इंटर्नशिप और फैलोशिप दी जायेंगी। हमारे देशों के पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने पर भी हमें विचार करना चाहिए। भारत को इस बारे में पहल करके खुशी होगी। फिल्म्स हमारे लोग के बीच संबंधों को बढ़ाने का महत्वपूर्ण जरिया हो सकती हैं। भारत में कई भाषाओं में, और विश्व में सबसे ज़्यादा फिल्में बनती हैं। भारत अगले वर्ष मार्च में मुंबई में ब्रिक्स फिल्म टेक्नोलॉजी सिम्पोजियम आयोजित करेगा। मुझे ख़ुशी है कि हमारे देश वीजा, आदि की व्यवस्थाओं में सुगमता ला रहे हैं। मैं राष्ट्रपति बोल्सोनारो द्वारा भारतीयों के लिए ब्राज़ील में वीजा फ्री एंट्री की घोषणा का स्वागत करता हूँ। वीजा, social security agreement और qualifications के mutual recognition से हम पाँच देशों के लोगों को परस्पर यात्रा और काम के लिए और अनुकूल माहौल मिलेगा।

Excellencies,

अंत में, राष्ट्रपति बोल्सोनारो को उत्कृष्ट व्यवस्था और BRICS के प्रभावशाली नेतृत्व के लिए एक बार फिर हार्दिक बधाई देना चाहूँगा। आने वाले वर्ष के लिए BRICS के अध्यक्ष रूस को भी मैं बधाई और भारत के पूरे समर्थन का आश्वासन देता हूं।

बहुत-बहुत धन्यवाद।


टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code