यात्रायें यात्रायें

विदेश मंत्री का बहरीन दौरा (24-25 नवंबर, 2020)

नवम्बर 25, 2020

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर का आज बहरीन का दो दिवसीय राजकीय दौरा संपन्न हुआ। दौरे के दौरान, उन्होंने बहरीन के सुल्तान प्रिंस सलमान बिन हमद अल खलीफा, द क्राउन प्रिंस, डिप्टी सुप्रीम कमांडर एवं प्रधानमंत्री तथा बहरीन के उप प्रधानमंत्री महामहीम शेख अली बिन खलीफा अल खलीफा से मुलाकात की। उन्होंने अपने समकक्ष, बहरीन के विदेश मंत्री महामहीम डॉ.अब्दुल्लातिफ बिन राशिद अल ज़ायनी के साथ चर्चा की।

इस दौरान डॉ. एस जयशंकर ने बहरीन के पूर्व प्रधानमंत्री खलीफा बिन सलमान अल खलीफा के निधन पर बहरीन नेतृत्व को सरकार और भारत के लोगों की ओर से संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने भारत-बहरीन संबंधों को मजबूत करने तथा बहरीन में भारतीय समुदाय के कल्याण के लिए दिवंगत प्रधानमंत्री के योगदान को याद किया।

विदेश मंत्री ने बहरीन में भारतीय समुदाय ( 300,000 से अधिक भारतीय ) की मेजबानी करने तथा कोविड -19 महामारी के दौरान भारतीय समुदाय के लोगों का विशेष ख्याल रखने के लिए बहरीन को धन्यवाद दिया। बहरीन के नेतृत्व ने बहरीन के विकास में भारतीय समुदाय के योगदान और दवाओं, चिकित्सा उपकरणों और चिकित्सा पेशेवरों की आपूर्ति के माध्यम से कोविड महामारी के दौरान भारत द्वारा प्रदान की गई सहायता की सराहना की। दोनों देशों ने अपने कोविड-संबंधी सहयोग को और मजबूत करने की पुष्टि की। उन्होंने दोनों देशों के बीच ‘एयर बबल’ व्यवस्था के संचालन पर भी संतोष व्यक्त किया।

डॉ. एस. जयशंकर ने बहरीन के विदेश मंत्री के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता की। दोनों मंत्रियों ने द्विपक्षीय मुद्दों के साथ-साथ आपसी हित के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की, जिसमें कोविड-पश्चात की चुनौतियों से निपटने में सहयोग और समन्वय भी शामिल था। उन्होंने रक्षा और समुद्री सुरक्षा, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, व्यापार और निवेश, बुनियादी ढांचे, आईटी, फिनटेक, स्वास्थ्य, हाइड्रोकार्बन तथा नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्रों सहित ऐतिहासिक भारत-बहरीन संबंधों को और मजबूत करने पर सहमति व्यक्त की। विदेश मंत्री ने अगले कुछ महीनों में भारत में आयोजित होने वाली तीसरी भारत-बहरीन उच्च संयुक्त आयोग की बैठक में शामिल होने के लिए बहरीन के विदेश मंत्री को भारत आने का निमंत्रण नवीकृत किया।

विदेश मंत्री ने यात्रा के दौरान बहरीन में भारतीय समुदाय के नेताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। उन्होंने मनामा में 200 साल पुराने श्रीनाथजी (श्री कृष्ण) मंदिर के दर्शन किये। मंदिर के आस-पास का 'लिटिल इंडिया' भारत-बहरीन मित्रता का प्रतीक है। उन्होंने बहरीन के राष्ट्रीय संग्रहालय का भी दौरा किया।

मनामा
नवंबर 25, 2020


Page Feedback

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code