मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

क्वाड नेताओं का संयुक्त वक्तव्य

सितम्बर 24, 2021

हम, ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका के नेताओं ने आज पहली बार व्यक्तिगत रूप से "क्वाड" के रूप में बैठक की। इस ऐतिहासिक अवसर पर हम अपनी साझेदारी और एक ऐसे स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए फिर से प्रतिबद्ध हैं जो हमारी साझा सुरक्षा और समृद्धि का आधार है तथा जो समावेशी तथा लचीला भी है।

हमारी पिछली बैठक को सिर्फ छह महीने बीते हैं। मार्च के बाद से कोविड महामारी ने वैश्विक स्तर पर परेशानियां बढ़ाई हैं; जलवायु संकट और गहरा हो गया है और क्षेत्रीय सुरक्षा इतनी जटिल हो गई है कि वह व्यक्तिगत और सामूहिक रूप से हम सभी देशों की परीक्षा ले रही है, हालांकि हमारा सहयोग अडिग है।

क्वाड शिखर सम्मेलन का अवसर हिंद-प्रशांत पर अपने आप पर और दुनिया का तथा इस बारे में हम जो हासिल करने की आशा करते हैं, उसके लिए हमारी सोच पर फिर से ध्यान केंद्रित करने का अवसर है। इसके साथ में हम हिंद-प्रशांत क्षेत्र और उसके बाहर भी सुरक्षा और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए एक ऐसी स्वतंत्र, खुली तथा नियम आधारित व्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं जो अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुरूप है और किसी भी तरह के बाहरी दबाव से मुक्त है। हम कानून के शासन, समुद्री और हवाई मार्ग के स्वतंत्र इस्तेमाल, विवादों के शांतिपूर्ण समाधान तथा लोकतांत्रिक मूल्यों और राज्यों की क्षेत्रीय अखंडता के लिए एक साथ खड़े हैं। हम एक साथ और कई भागीदार देशों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम आसियान की एकता और उसे घनीभूत करने के लिए तथा भारत-प्रशांत पर आसियान के दृष्टिकोण के लिए अपने मजबूत समर्थन की पुष्टि करते हैं। हम इसके साथ ही व्यावहारिक और समावेशी तरीकों से आसियान और उसके सदस्य देशों जो हिन्द -प्रशांत क्षेत्र की आत्मा हैं के साथ काम करने के प्रति अपने समर्पण को रेखांकित करते हैं। हम हिन्द-प्रशांत में सहयोग के लिए सितंबर 2021 की यूरोपीय संघ की रणनीति का भी स्वागत करते हैं।

हमारी पहली बैठक के बाद से हमने कोविड -19 महामारी, जलवायु संकट और उभरती हुई प्रौद्योगिकियों जैसी दुनिया की कुछ सबसे अधिक दबाव वाली चुनौतियों से निपटने में काफी प्रगति की है।

कोविड-19 प्रतिक्रिया और राहत पर हमारी साझेदारी क्वाड के लिए ऐतिहासिक रूप से फोकस का एक केन्द्र साबित हुई है। हमने क्वाड वैक्सीन एक्सपर्ट्स ग्रुप की शुरुआत की जिसमें हमारी संबंधित सरकारों के शीर्ष विशेषज्ञ शामिल थे जिन पर मजबूत संबंध बनाने और हिन्द-प्रशांत स्वास्थ्य सुरक्षा और कोविड-19 प्रतिक्रिया का समर्थन करने के लिए हमारी योजनाओं को बेहतर ढंग से समन्वित करने की जिम्मेदारी सौंपी गई​ थी।

ऐसा करने के क्रम में हमने महामारी की स्थिति के आकलन को साझा किया, इससे निपटने के अपने प्रयासों में समन्वय स्थापित किया और इस क्षेत्र में कोविड को कम करने के लिए साझा राजनयिक प्रयासों को सुदृढ़ किया । इसके साथ ही हमने कोवैक्स सुविधा सहित बहुपक्षीय प्रयासों के साथ निकट सहयोग करते हुए वैक्सीन के सुरक्षित, प्रभावी, गुणवत्तायुक्त उत्पादन और उसके न्यायसंगत पहुंच का समर्थन करने के हमारे प्रयासों के समन्वय में सक्रिय रूप से सुधार किया है। कोवैक्स के माध्यम से वित्तपोषित खुराक के अलावा, ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका ने विश्व स्तर पर सुरक्षित और प्रभावी कोविड-19 टीकों की 1.2 अरब से अधिक खुराक दान करने का संकल्प लिया है। अभी तक हम इन प्रतिबद्धताओं के रूप में हिंद-प्रशांत क्षेत्र के देशों को लगभग 79 लाख सुरक्षित, प्रभावी और गुणवत्ता-युक्त ऐसे टीके वितरित कर चुके हैं।

क्वाड वैक्सीन साझेदारी को उसकी ओर से बायोलॉजिकल ई लिमिटेड को टीकों की उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए किए गए वित्तपोषण के लिए धन्यवाद। भारत में अतिरिक्त उत्पादन इस साल के अंत में पटरी पर आ जाएगा। हमारी मार्च की घोषणा के अनुरूप और टीकों की वैश्विक आपूर्ति में हो रही कमी को ध्यान में रखते हुए हम यह सुनिश्चित करेंगे कि टीकों के उत्पादन में होने वाली बढ़ोतरी हिन्द-प्रशांत और दुनिया के अन्य देशों के लिए निर्यात के काम में लाई जा सके। इसके अलावा हम निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिए सुरक्षित, प्रभावी और गुणवत्ता युक्त कोविड -19 टीके प्राप्त करने के लिए कोवैक्स सुविधा के साथ ही प्रमुख बहुपक्षीय पहलों के साथ भी समन्वय करेंगे। हम टीकों के उत्पादन के लिए खुली और सुरक्षित आपूर्ति श्रृंखलाओं के महत्व को भी समझते हैं।

हमने पूरे क्षेत्र और दुनिया में कोविड महामारी के कारण उत्पन्न हुई महीनों तक चली कठिनाई के बावजूद अब तक बहुत कुछ हासिल किया है। क्वाड नेता बॉयोलॉजिकल ई लिमिटेड के उत्पादन का स्वागत करते हैं जिसमें हमारे क्वाड निवेश के माध्यम से 2022 के अंत तक कम से कम एक अरब सुरक्षित और प्रभावी कोविड-19 टीको का उत्पादन किया जाना शामिल है। आज हमें इस आपूर्ति की दिशा में प्रारंभिक कदम की घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है जो तुरंत हिंद-प्रशांत क्षेत्र और दुनिया से महामारी को समाप्त करने में मदद करेगा। क्वाड अक्टूबर 2021 से शुरू होने वाले COVAX सहित सुरक्षित और प्रभावी कोविड-19 टीकों के निर्यात को फिर से शुरू करने की भारत की घोषणा का भी स्वागत करता है। जापान 3.3 अरब डॉलर के कोविड-19 आपदा प्रतिक्रिया राहत कोष के माध्यम से क्षेत्रीय भागीदारों को टीके खरीदने में मदद करना जारी रखेगा। ऑस्ट्रेलिया दक्षिण पूर्व एशिया और प्रशांत क्षेत्र के लिए टीके खरीदने के लिए अनुदान सहायता के रूप में 212 मिलियन डॉलर देगा। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया वैक्सीन रोलआउट का समर्थन करने के लिए 219 मिलियन डॉलर अतिरिक्त रूप से देगा और उन क्षेत्रों में क्वाड के अंतिम-चरण के वितरण प्रयासों के समन्वय का नेतृत्व करेगा। हम नैदानिक ​​परीक्षणों और जीनोमिक निगरानी के क्षेत्रों में अपने विज्ञान और प्रौद्योगिकी (एस एंड टी) सहयोग को भी मजबूत करेंगे ताकि हम इस महामारी को समाप्त करने और बेहतर स्वास्थ्य सुरक्षा के अपने प्रयासों में तेजी ला सकें। हम वैश्विक स्तर पर स्वास्थ्य सुरक्षा वित्तपोषण और राजनीतिक नेतृत्व को मजबूत करके दुनिया में टीकाकरण अभियान चलाने, लोगों का जीवन बचाने और हालात को फिर से बेहतर बनाने में मदद करने के लिए अपने प्रयासों को साझा वैश्विक लक्ष्यों के साथ समन्वित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारे देश 2022 में संयुक्त रूप से महामारी से निबटने की तैयारियों का एक अभ्यास भी करेंगे।

हम जलवायु संकट से निपटने वाले लोगों के साथ शामिल हो गए हैं। यह एक ऐसी समस्या है जिसका तत्काल समाधान जरूरी है। क्वाड देश पेरिस-जलवायु सम्मेलन में तय की गई वैश्विक तापमान सीमा को निर्धारित दायरे के भीतर रखने के लिए मिलकर काम करेंगे और इसे पूर्व-औद्योगिक स्तरों से 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करने के प्रयासों को आगे बढ़ाएंगे। इसके लिए क्वाड देश COP26 के आयोजन तक महत्वाकांक्षी NDCs को नया रूप देने का इरादा रखते हैं और उन लोगों का स्वागत करते हैं जो पहले ही ऐसा कर चुके हैं। क्वाड देश हिंद-प्रशांत क्षेत्र में प्रमुख हितधारकों तक पहुंचने सहित वैश्विक महत्वाकांक्षा को बढ़ाने के लिए समन्वित रूप से अपने कूटनीतिक प्रयास करेंगे। हमारा काम तीन विषयगत क्षेत्रों में आयोजित किया जाता है: जलवायु महत्वाकांक्षा, स्वच्छ-ऊर्जा नवाचार और उसका इस्तेमाल तथा जलवायु अनुकूलन, लचीलापन और तैयारी। वर्ष 2020 के दौरान गति दिए गए कार्यों को हम राष्ट्रीय स्तर पर उपयुक्त क्षेत्रीय डीकार्बोनाइजेशन अर्थात वातावरण में कार्बन उत्सर्जन को कम करने के प्रयासों का अनुसरण कर रहे हैं, जिनमें शिपिंग और बंदरगाह संचालन और स्वच्छ-हाइड्रोजन प्रौद्योगिकी की तैनाती के उद्देश्य शामिल हैं। हम जिम्मेदार और लचीली स्वच्छ-ऊर्जा आपूर्ति श्रृंखला स्थापित करने के लिए सहयोग करेंगे और आपदा प्रतिरोधी बुनियादी ढांचे और जलवायु सूचना प्रणाली के लिए गठबंधन को मजबूत करेंगे। क्वाड देश COP26 और G20 में सफल परिणामों के लिए एक साथ काम करेंगे जो इस समय आवश्यक जलवायु महत्वाकांक्षा और नवाचार के स्तर को बनाए रखते हैं। इसमें आगे बढ़ाने के इरादे से 2050 तक वैश्विक शुद्ध-शून्य उत्सर्जन को प्राप्त करने के उद्देश्य में योगदान करना और राष्ट्रीय परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए ये कदम उठाना शामिल है।

हमने महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकियों के क्षेत्र में सहयोग स्थापित किया है, यह सुनिश्चित करने के लिए कि जिस तरह से प्रौद्योगिकी को डिजाइन, विकसित, शासित और उपयोग किया जा रहा है वह हमारे साझा मूल्यों और सार्वभौमिक मानवाधिकारों के अनुरूप हो। उद्योगों के साथ साझेदारी में, हम सुरक्षित, खुले और पारदर्शी 5G और 5G से परे नेटवर्क के इस्तेमाल को आगे बढ़ा रहे हैं, और नवाचार को बढ़ावा देने और भरोसेमंद विक्रेताओं और ओपन-आरएएन जैसे दृष्टिकोणों को बढ़ावा देने के लिए भागीदारों की एक श्रृंखला के साथ काम कर रहे हैं। 5G विविधीकरण के लिए एक सक्षम वातावरण को बढ़ावा देने में सरकारों की भूमिका को स्वीकार करते हुए हम सार्वजनिक-निजी सहयोग की सुविधा के लिए मिलकर काम करेंगे और 2022 में खुले, मानक-आधारित प्रौद्योगिकी की मापनीयता वाले साइबर सुरक्षा का प्रदर्शन करेंगे। तकनीकी मानकों के विकास के संबंध में, हम एक खुले, समावेशी, निजी क्षेत्र के नेतृत्व वाले, बहु-हितधारक और सर्वसम्मति-आधारित दृष्टिकोण को बढ़ावा देने के लिए क्षेत्र-विशिष्ट संपर्क समूह स्थापित करेंगे। हम अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ जैसे बहुपक्षीय मानकीकरण संगठनों में भी समन्वय और सहयोग करेंगे। हम सेमीकंडक्टर्स सहित महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों और सामग्रियों की आपूर्ति श्रृंखला का ब्यौरा तैयार कर रहे हैं, और सरकार के समर्थन उपायों और नीतियों के महत्व को पहचानते हुए महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों की लचीली, विविध और सुरक्षित आपूर्ति श्रृंखला के प्रति अपनी सकारात्मक प्रतिबद्धता की पुष्टि करते हैं जो पारदर्शी और बाजार-उन्मुख हैं।

हम जैव प्रौद्योगिकी से शुरुआत करते हुए, और सहयोग के लिए संबंधित अवसरों की पहचान करते हुए, भविष्य की महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकियों में रुझानों पर नजर रख रहे हैं। हम आज प्रौद्योगिकी डिजाइन, विकास, शासन और उपयोग पर क्वाड सिद्धांत भी जारी कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि यह न केवल क्षेत्र विशेष का बल्कि पूरी दुनिया का एक जिम्मेदार, खुले और उच्च-मानक नवाचार की दिशा में मार्गदर्शन करेगा

आगे बढ़ते हुए हम इन महत्वपूर्ण क्षेत्रों में न केवल अपने सहयोग को गहरा करेंगे बल्कि हम इसका विस्तार और नए क्षेत्रों में भी करेंगे। हमारे प्रत्येक क्षेत्रीय बुनियादी ढांचे के प्रयासों में, अलग-अलग और एक साथ हम एक नई क्वाड इंफ्रास्ट्रक्चर साझेदारी शुरू कर रहे हैं। क्वाड के रूप में हम अपने प्रयासों के समन्वय के लिए नियमित रूप से मिलेंगे, क्षेत्र के बुनियादी ढांचे की जरूरतों का नक्शा तैयार करेंगे और क्षेत्रीय जरूरतों और अवसरों में समन्वय स्थापित करेंगे। हम तकनीकी सहायता प्रदान करने के लिए सहयोग करेंगे, मूल्यांकन के तरीकों के साथ क्षेत्रीय भागीदारों को सशक्त बनाएंगे और एक सतत बुनियादी ढांचे के विकास को बढ़ावा देंगे। हम G7 के बुनियादी ढांचे के प्रयासों का समर्थन करते हैं और यूरोपीय संघ सहित समान विचारधारा वाले भागीदारों के साथ सहयोग करने के लिए तत्पर हैं। हम G20 गुणवत्ता अवसंरचना निवेश सिद्धांतों की पुन: पुष्टि करते हैं और हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में उच्च-मानक अवसंरचना प्रदान करने के अपने प्रयासों को फिर से सक्रिय करेंगे। हम ब्लू डॉट नेटवर्क के साथ अपने जुड़ाव को जारी रखने में अपनी रुचि की पुष्टि करते हैं। हम प्रमुख लेनदार देशों के लिए अंतरराष्ट्रीय नियमों और मानकों के अनुरूप खुली, निष्पक्ष और पारदर्शी उधार प्रथाओं का समर्थन करने के महत्व पर जोर देते हैं, जिसमें ऋण स्थिरता और जवाबदेही शामिल है और सभी लेनदारों से इन नियमों और मानकों का पालन करने का आह्वान करते हैं।

आज हम साइबर स्पेस में नए सहयोग की शुरुआत कर रहे हैं और साइबर खतरों से निपटने, लचीलेपन को बढ़ावा देने और अपने महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे को सुरक्षित करने के लिए मिलकर काम करने का संकल्प लेते हैं। अंतरिक्ष में हम नए सहयोग के अवसरों की पहचान करेंगे और जलवायु परिवर्तन की निगरानी, ​​आपदा प्रतिक्रिया और तैयारियों, महासागरों और समुद्री संसाधनों के सतत उपयोग और साझा डोमेन में चुनौतियों का जवाब देने जैसे शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए उपग्रह डेटा साझा करेंगे। हम बाह्य अंतरिक्ष के सतत उपयोग को सुनिश्चित करने के लिए नियमों, मानदंडों, दिशानिर्देशों और सिद्धांतों पर भी परामर्श करेंगे।

क्वाड फेलोशिप की शुरुआत करते हुए हमें शैक्षिक स्तर पर और लोगों से लोगों के बीच सहयोग का एक नया अध्याय शुरू करने पर गर्व है। श्मिट फ्यूचर्स द्वारा संचालित एक परोपकारी पहल और एक्सेंचर, ब्लैकस्टोन, बोइंग, गूगल, मास्टरकार्ड और वेस्टर्न डिजिटल के उदार समर्थन के साथ यह पायलट फेलोशिप कार्यक्रम विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित के क्षेत्र में हमारे चार देशों में अग्रणी स्नातक छात्रों को 100 स्नातक फेलोशिप प्रदान करेगा। क्वाड फेलोशिप के माध्यम से, एसटीईएम प्रतिभा की हमारी अगली पीढ़ी क्वाड और अन्य समान विचारधारा वाले भागीदारों को नवाचारों की ओर ले जाने के लिए तैयार होगी जो हमारे साझा भविष्य को आकार देंगे।.

दक्षिण एशिया में हम अफगानिस्तान के प्रति अपनी राजनयिक, आर्थिक और मानवाधिकार नीतियों का घनिष्ठ समन्वय करेंगे और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रस्ताव-2593 के अनुसार आने वाले महीनों में अपने आतंकवाद-रोधी और मानवीय सहयोग को गहरा करेंगे। हम फिर से इस बात की पुष्टि करते हैं कि हम नहीं चाहते कि अफगान क्षेत्र का उपयोग किसी देश को धमकाने या उसपर हमला करने, आतंकवादियों को पनाह देने या उन्हें प्रशिक्षण देने, आतंकवादी कृत्यों की योजना बनाने या उनका वित्तपोषण करने के लिए किया जाना चाहिए। इसके साथ ही हम अफगानिस्तान में आतंकवाद का मुकाबला करने के महत्व को भी फिर से स्वीकार करते है।

हम परदे के पीछे से आतंकवादियों के इस्तेमाल किए जाने की निंदा करते हैं और आतंकवादी समूहों को किसी भी तरह की सैन्य, वित्तीय या लॉजिस्टिक सहायता नहीं दिए जाने के महत्व पर जोर देते हैं जिसका उपयोग सीमा पार हमलों सहित आतंकवादी हमलों को शुरू करने या योजना बनाने के लिए किया जा सकता है। हम अफगान नागरिकों के साथ एकजुट खड़े हैं और तालिबान से आह्वान करते हैं कि वह अफगानिस्तान छोड़ने के इच्छुक किसी भी व्यक्ति को निकलने का सुरक्षित रास्ता दे और यह सुनिश्चित करे कि महिलाओं, बच्चों और अल्पसंख्यकों सहित सभी अफगानियों के मानवाधिकारों का सम्मान किया जाएगा।

हम यह मानकर चलते हैं कि हमारा साझा भविष्य हिंद-प्रशांत में ही लिखा जाएगा और हम यह सुनिश्चित करने के लिए अपने प्रयासों को दोगुना करेंगे कि क्वाड क्षेत्रीय शांति, स्थिरता, सुरक्षा और समृद्धि के लिए एक बड़ी ताकत है। इस दिशा में हम अंतरराष्ट्रीय कानून का पालन करना जारी रखेंगे विशेष रूप से समुद्र के कानून पर जैसा कि संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (यूएनसीएलओएस) में परिलक्षित है ताकि पूर्व और दक्षिण चीन सागर सहित समुद्री नियम-आधारित आदेश को मिल रही चुनौतियों का सामना किया जा सके। .

हम छोटे द्वीपीय देशों, विशेष रूप से प्रशांत क्षेत्र वालों को उनके आर्थिक और पर्यावरणीय लचीलेपन को बढ़ाने के लिए अपने समर्थन की पुष्टि करते हैं। हम कोविड-19 के स्वास्थ्य और आर्थिक क्षेत्र तथा गुणवत्ता पर पड़े प्रभावों से निबटने,टिकाऊ बुनियादी ढांचे के साथ-साथ जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को कम करने के लिए अनुकूल वातावरण बनाने हेतु प्रशांत क्षेत्र के उन द्वीपीय देशों के साथ अपना सहयोग जारी रखेंगे जो विशेष रूप से गंभीर चुनौतियों का सामना कर रहे हैं।

हम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अनुसार उत्तर कोरिया के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करते हैं, और जापानी अपहरणकर्ताओं के मुद्दे के तत्काल समाधान की आवश्यकता की भी पुष्टि करते हैं। हम उत्तर कोरिया से संयुक्त राष्ट्र के अपने दायित्वों का पालन करने और उकसावे से दूर रहने का आग्रह करते हैं।हम उत्तर कोरिया से भी सारभूत बातचीत में शामिल होने का आह्वान करते हैं। हम हिंद-प्रशांत और उसके बाहर भी लोकतांत्रिक व्यवस्था का लीचलापन बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम म्यांमार में हिंसा को समाप्त करने, विदेशियों सहित सभी राजनीतिक बंदियों की रिहाई, रचनात्मक बातचीत में संलग्न होने और वहां लोकतंत्र की शीघ्र बहाली का भी निरंतर आह्वान करते हैं। इसके साथ ही हम आगे आसियान की पांच सूत्रीय सहमति को लागू करने का आह्वान करते हैं। हम संयुक्त राष्ट्र सहित बहुपक्षीय संस्थानों में अपने सहयोग को और गहरा करेंगे जहां हमारी साझा प्राथमिकताओं को मजबूत करने से बहुपक्षीय प्रणाली के लचीलेपन में वृद्धि होती है। यह सुनिश्चित करते हुए कि यह क्षेत्र समावेशी, खुला और सार्वभौमिक नियमों और मानदंडों द्वारा शासित है हम व्यक्तिगत रूप से और साथ मिलकर हम अपने समय की चुनौतियों का सामना करेंगे।

हम सहयोग की प्रक्रिया जारी रखेंगे; हमारे नेतागण और विदेश मंत्री हर साल बैठक करेंगे और हमारे वरिष्ठ अधिकारी नियमित रूप से मिलते रहेंगे। हमारे कार्य समूह एक सशक्त क्षेत्र के निर्माण के लिए आवश्यक सहयोग के वास्ते अपना सतत प्रयास जारी रखेंगे।

ऐसे समय में जो हमारे लिए एक परीक्षा की घड़ी है,एक स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र को साकार करने की हमारी प्रतिबद्धता मजबूत है और इस साझेदारी के लिए हमारी दृष्टि महत्वाकांक्षी और दूरगामी बनी हुई है। दृढ़ सहयोग से इसे ​पूरा करने के लिए हम साथ उठ खड़े हुए हैं।

वाशिंगटन डी सी
सितंबर 24, 2021

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code