यात्रायें यात्रायें

भारत के विदेश मंत्री का कतर दौरा (27-28 दिसंबर, 2020)

दिसम्बर 28, 2020

विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने 27-28 दिसंबर 2020 तक कतर का दो दिवसीय दौरा किया। इस दौरे के दौरान उन्होंने कतर के महामहिम अमीर और उनके पिता अमीर के साथ-साथ प्रधानमंत्री एवं कतर के गृह मंत्री तथा उप प्रधान मंत्री एवं विदेश मंत्री के साथ विस्तृत चर्चा की।

डॉ. एस. जयशंकर ने प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी का निजी संदेश महामहिम अमीर शेख तमीम बिन हमीद अल थानी को सौंपा जिसमें उन्हें भारत आने का निमंत्रण दिया तथा कोविड -19 के दौरान भारतीय समुदाय की देखभाल के लिए कतर का धन्यवाद किया। अमीर ने जल्द भारत आने का निमंत्रण स्वीकार कर लिया। उन्होंने प्रधानमंत्री के साथ अपनी टेलीफोन पर हुई बातचीत को भी याद किया, जिसके दौरान दोनों नेताओं ने निवेश और ऊर्जा पर कार्य बलों की स्थापना का निर्णय लिया था। दोनों पक्ष इस फैसले को लागू करने की प्रक्रिया में हैं।

महामहिम पिता अमीर शेख हमद बिन खलीफा अल थानी ने कतर में भारतीय समुदाय के योगदान की सराहना की तथा भारत की अपनी यात्राओं को याद किया। विदेश मंत्री ने भारत-कतर संबंधों पर उनके निरंतर मार्गदर्शन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने वैश्विक और क्षेत्रीय विकास पर अपनी अंतर्दृष्टि के लिए पिता अमीर की भी सराहना की।

प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री महामहिम शेख खालिद बिन खलीफा बिन अब्दुलअजीज अल थानी तथा विदेश मंत्री ने द्विपक्षीय आर्थिक और सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने पर चर्चा की।

विदेश मंत्री ने उप-प्रधान मंत्री एवं विदेश मंत्री महामहिम शेख मोहम्मद बिन अब्दुलरहमान बिन जसीम अल थानी के साथ द्विपक्षीय और साथ ही पारस्परिक हित के क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की। दोनों मंत्रियों ने ऊर्जा, व्यापार, निवेश, खाद्य प्रसंस्करण, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा, संस्कृति, रक्षा और सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में बहुपक्षीय द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। दोनों पक्ष बहुपक्षीय मंचों पर पारस्परिक हित के सभी मुद्दों पर नियमित परामर्श और समन्वय बनाए रखने के लिए सहमत हुए। विदेश मंत्री ने 2021 में आयोजित होने वाली पहली संयुक्त आयोग की बैठक के लिए कतर के उप-प्रधान मंत्री एवं विदेश मंत्री को भारत आने का निमंत्रण दिया।

विदेश मंत्री ने कतर के उद्यमियों से बातचीत की, जिसमें कतर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष एवं बोर्ड के सदस्य और कतर व्यवसायी संघ शामिल थे। विदेश मंत्री ने भारत के साथ व्यापारिक साझेदारी के लिए उनकी प्रतिबद्धता की सराहना की और उन्हें आत्मनिर्भर भारत के ज़रिए उत्पन्न होने वाले नए अवसरों के बारे में जानकारी दी।

विदेश मंत्री ने कतर में भारतीय समुदाय के साथ डिजिटल वार्ता की। उन्होंने कोविड -19 चुनौती से लड़ने में समुदाय के योगदान की सराहना की। विदेश मंत्री ने अहमद बिन अली फीफा स्टेडियम का दौरा किया, जिसका निर्माण भारतीय कंपनी एल एंड टी ने कतर के अल बलघ समूह के साथ मिलकर किया है। उन्होंने कतर राष्ट्रीय संग्रहालय का भी दौरा किया।

दोहा
दिसंबर 28, 2020


पेज की प्रतिक्रिया

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code