मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

06 फरवरी 2022 को जारी किए गए चीन और पाकिस्तान के बीच संयुक्त बयान में जम्मू-कश्मीर और तथाकथित चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के संदर्भ में मीडिया के प्रश्नों पर आधिकारिक प्रवक्ता की प्रतिक्रिया

फरवरी 09, 2022

06 फरवरी 2022 को जारी किए गए चीन और पाकिस्तान के बीच संयुक्त बयान में जम्मू-कश्मीर और तथाकथित चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के संदर्भ में मीडिया के प्रश्नों के उत्तर पर में, आधिकारिक प्रवक्ता श्री अरिंदम बागची ने कहा:

"हमने 06 फरवरी 2022 को जारी किए गए चीन और पाकिस्तान के बीच संयुक्त बयान में जम्मू-कश्मीर और तथाकथित चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के संदर्भों को देखा है।

हमने हमेशा इस तरह के संदर्भों को खारिज किया है और हमारी स्थिति चीन और पाकिस्तान को अच्छी तरह से पता है। इस मामले में भी हम संयुक्त वक्तव्य में जम्मू-कश्मीर के संदर्भ को अस्वीकार करते हैं। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख भारत के अभिन्न और अविभाज्य हिस्से रहे हैं, हैं और हमेशा रहेंगे। हम उम्मीद करते हैं कि संबंधित पक्ष भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेंगे।

तथाकथित चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के संदर्भ में, हमने तथाकथित सीपीईसी में परियोजनाओं पर चीन और पाकिस्तान को लगातार अपनी चिंताओं से अवगत कराया है, जो कि भारत के क्षेत्र में हैं और जिस पर पाकिस्तान द्वारा अवैध रूप से कब्जा कर लिया गया है। हम पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले क्षेत्रों में अन्य देशों, साथ ही पाकिस्तान का भी यथास्थिति को बदलने के किसी भी प्रयास का सख्ती से विरोध करते हैं। हम संबंधित पक्षों से ऐसी गतिविधियों को बंद करने का आह्वान करते हैं।”

नई दिल्ली
फरवरी 09, 2022

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code